विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा – विगत शुक्रवार की देर रात लखनऊ के गोमती नगर में हुए। विवेक तिवारी की हत्याकाण्ड में मुख्य गवाह सना ने कई नए खुलासे किए हैं. सना ने कहा “मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि पुलिस ऐसी हो सकती, पुलिस के  सिपाहियों ने हमें अपराधियों की तरह घेर लिया था। फिर आरोप लगाते हुए अभद्रता शुरू कर दी थी। इससे घबराकर विवेक सर ने गाड़ी आगे बढ़ा दी। उसके बाद जो हुआ वह अभी भी मेरी आंखों के सामने घूम रहा है।” विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

सोमवार को मीडिया से मुखातिब हुई घटना की मुख्य गवाह सना ने पुलिस की क्रूरता की कहानी बयां की। इससे पहले पुलिस ने उसे नजरबंद कर रखा था। सना ने चौंकाने वाला खुलासा किया कि घटना के बाद हत्यारोपी सिपाही प्रशांत चौधरी की पत्नी कांस्टेबल राखी मलिक ने उसे गोमतीनगर थाने में धमकाया था।

“अपराधी के साथ क्या कर रही थी तुम”

सना के अनुसार उसे गोमतीनगर थाने के महिला सम्मान कक्ष में बैठाया गया। जहां ड्यूटी पर हत्यारोपी सिपाही प्रशांत चौधरी की पत्नी कांस्टेबल राखी मलिक तैनात थी। राखी ने उससे उलटे-सीधे सवाल पूछने शुरू कर दिए। राखी ने कहा कि तुम अपराधी के साथ गाड़ी में क्या कर रही थी? राखी ने उसे धमकाया कि अब तुम भी जेल जाओगी। सना का कहना है कि राखी ने उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया। विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

विवेक तिवारी गोलीकाण्ड के विरोध में समाजवादी पार्टी ने निकाला कैंडल मार्च

राजधानी में पुलिस द्वारा निर्दोष विवेक तिवारी  की निर्मम हत्या के विरोध में समाजवादियों द्वारा निकाला गया कैंडिल मार्च।

पीड़ित परिवार को न्याय एवं दोषियों को सख़्त से सख़्त सज़ा दिलाने तक जारी रहेगा संघर्ष।

आपको बता दे कि लखनऊ ऐप्पल मैनेजर के लैंड मैनेजर विवेक तिवारी, जो अपने एक्सयूवी 500 से घर लौटे, पुलिस बुलेट ने मारा था। आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और जेल भेजा गया है और आदेशों की जांच करने का आदेश दिया गया है। लेकिन इस घटना ने पुलिस को सवालों के डॉक में डाल दिया है। विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

विवेक की पत्नी कल्पना कल्पना ने कहा, “मैंने रात में एक बजे उससे बात की थी, कल ऐप्पल फोन का लॉन्च था, वह झूठ बोल रहा था, मैं 3 बजे स्ट्रॉ छोड़ने गया, किसी ने कहा कि दुर्घटना आप लोहिया पहुंचे हैं।

उन्होंने कहा, “डॉक्टरों ने दुर्घटना के बारे में कुछ नहीं कहा, मैंने गोली के बारे में बात नहीं की, मैं एक आकस्मिक स्थान पर गया, ट्रेन पर गोली के निशान थे। अगर उन्होंने कार को नहीं रोका, तो उन्होंने किस अपराध को निकाल दिया , मैंने योगी जी से जवाब गोली मार दी।

शूट करने का अधिकार किसने दिया

कल्पना ने कहा, “योगी जी द्वारा कौन सा कानून पारित किया गया है, जो कानून और व्यवस्था की गई है, पुलिस कह रही है कि वह एक अपमानजनक स्थिति में था। मैं कहता हूं कि वह हमारा पारस्परिक मामला है। यह था कि कार बढ़ने लगी, वह एक दुर्घटना चला गया। मामला कुछ भी था लेकिन शूट करने का अधिकार किसने दिया। ” विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

उन्होंने कहा, “मुझे बताया गया था कि वे आक्रामक स्थिति में देखे गए थे, कॉन्स्टेबल पर ड्राइव करना शुरू कर दिया, वे खंभे में भाग गए और मुझे सरकार से जवाब मिला, मुझे पुलिस पर भरोसा नहीं था, उन्होंने बैठे कॉन्स्टेबल रखे घर। यह क्षेत्र कुछ भी था, मुझे घर से गिरफ्तार कर रहा था, जो पुलिसकर्मी था।

योगी सरकार में पुलिस निरकुंश

उन्होंने कहा, “पुलिस किसी भी कारण से भेदभाव के बिना हत्या कर दी, हमारे पास किसी के साथ कोई शत्रुता नहीं है।” योगी जी ने मुझे जवाब दिया, उस आदमी से मिलें जिसने मुझे गोली मार दी, जो पुलिसकर्मी है। चरित्र पर प्रश्न उठाए जा रहे हैं। विवेक तिवारी हत्याकांड में सना खान बड़ा का खुलासा

विवेक की पत्नी कल्पना ने कहा, “अखिलेश सरकार और इस सरकार के बीच कोई फर्क नहीं पड़ता, मेरे निर्दोष पति को क्यों मार डाला गया। अगर कोई गलत आंदोलन हुआ, तो उसे जेल में डाल दिया, उसने कैसे मारा।

इसे जरुर पढ़े:

महात्मा गाँधी का विद्यार्थियों को अहिंसा का पाठ

बस्ती में छात्र संघ चुनाव पर रोक का विरोध कर रहे छात्रो पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज

उत्तर प्रदेश छात्रवृत्ति ऑनलाइन फार्म 2018

जाने क्या है विवेक तिवारी मर्डर केस का सच #VivekTiwari

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment