Subramanian Swamy का बयान Arun jaitely चाहते तो Nirav Modi भारत छोड़ कर ना भाग पाता

Subramanian Swamy का बयान Arun jaitely चाहते तो Nirav Modi भारत छोड़ कर ना भाग पाता

Subramanian Swamy का बयान Arun jaitely चाहते तो Nirav Modi भारत छोड़ कर ना भाग पाता-Punjab National Bank से 13,000 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाले भगोड़े हीरा कारोब Nirav Modi की Modi sarkar से नजदीकियों की परतें खुलती जा रही हैं।

अब Nirav Modi के प्रत्यर्पण को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली और वित्त मंत्रालय पर भाजपा सांसद Subramanian Swamy ने सनसनीखेज खुलासा किया है।

Subramanian Swamy ने जो Arun jaitely पर लगाए हैं वो बहुत गंभीर हैं।

स्वामी ने कहा है कि, “मोदी सरकार और प्रधानमंत्री कार्यालय ने Nirav Modi के प्रत्यर्पण को लेकर काफी मेहनत किया,

लेकिन वित्त मंत्रालय की वजह से इसमें देरी हुई। यहाँ तक की उन्होंने सोने का बिस्किट भी लिया।

देखे और सुने स्वामी को बात

Subramanian Swamy का बयान

वित्त मंत्रालय जागरूक रहता तो Nirav Modi

अगर वित्त मंत्रालय सचेत रहता तो Nirav Modi कभी देश छोड़कर  नहीं जा सकता था।

हमें इसके लिए वित्त मंत्रालय में जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करनी चाहिए.

Modi hai to Mumkin Hai 13000 करोड़ का घोटाला करने वाला ‘Nirav Modi’ लंदन में बेख़ौफ़ घूम रहा है

Subramanian Swamy का बयान ऐसे समय आया है

जब ईडी के अनुरोध अकरने पर लंदन पुलिस ने Nirav Modi के गिरफ्तारी वारंट जारी किए हैं।

बता दें कि लंदन में वेस्टमिस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने Nirav Modi के खिलाफ प्रत्यार्पण वारंट जारी किया है, इसके बाद लगभग नीरव की गिरफ्तारी तय है।

Nirav Modi की गिरफ्तारी संभव हो सकती है

अब Nirav Modi के पास वारंट जारी होने के बाद दो ही विकल्प है

या तो वह किसी पुलिस सरेंडर कर दे या फिर वारंट को तमिल कराने के लिए जिम्मेदार मेट्रोपोलिटन पुलिस के अधिकारी उसे गिरफ्तार करेंगे।

नीरव मोदी Vs नरेंद्र मोदी: दोनों ने देश को लूटा और ख़ुद को कानून से ऊपर समझाः राहुल गांधी

वैसे Nirav Modi के भारत लाने की तैयारी लोकसभा चुनाव में फायदा लेने की भी हो सकती है।

क्योंकि जिस तरह से पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक का प्रधानमंत्री मोदी ने राजनीतिकरण किया

उससे तो यही लगता है कि Nirav चुनाव में इस्तेमाल किया जाएगा।

SP-BSP-RLD का महागठबंधन को मजबूत

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment