मुलायम सिंह यादव और कांशीराम की अनकही यादे

मुलायम सिंह यादव और कांशीराम की अनकही यादे

मुलायम सिंह यादव और कांशीराम की अनकही यादे- ये फोटो मैंने 5 दिसंबर सन 1993 में खींचा था श्री मुलायम सिंह यादव जी (नेता जी) बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन कर के दोबारा मुख्यमंत्री बन गए थे| नेता जी भले ही “जनता दल” का साथ छोड़ चुके थे| अपनी नयी “समाजवादी पार्टी” भी बना चुके थे| और बहुजन समाज पार्टी के साथ गठजोड़ कर के बेफिक्र अपनी सरकार बना चुके थे| लेकिन फिर भी उन्होंने अपने पुराने संबंधो को,जो उनके श्री विश्वनाथ प्रताप सिंह जी से थे, उनको जिन्दा रखा|

अपने हाथ से मिठाई खिलाकर मुँह मीठा कराया

मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद नेता जी सबसे पहले श्री विश्वनाथ प्रताप सिंह, जो की भूतपूर्व प्रधान मंत्री रहे थे और नेता जी से स्नेह रखते थे, उनके लखनऊ आवास पर जा कर उनसे मुलाकात की|इनके साथ में मान्यवर कांशीराम जी, किरणमय नंदा जी और श्री राज बब्बर भी थे| श्री विश्वनाथ प्रताप सिंह जी ने नेता जी को बहुत बहुत बधाई दी| और दुबारा मुख्यमंत्री बनने पर श्री मुलायम सिंह यादव जी को अपने हाथ से मिठाई खिलाकर मुँह मीठा कराया|

1993 से लेकर अब तक समय कितना बदल गया

1993 से लेकर अब तक समय कितना बदल गया  है| जैसे ही कोई व्यक्ति अपनी पुरानी पार्टी छोड़ कर नयी पार्टी में जाता है| तो कल तक जो उस पार्टी के लोग उसका गुणगान किया करते थे| अब वही लोग उसे चोर और दगाबाज़ बताकर महाभ्रष्ट तक कह देते हैं| पार्टी बदलते ही वो व्यक्ति सदैव के लिए अपना गद्दार दुश्मन दिखने लगता है|

निजी तौर पर प्यार मौहब्बत बनी रहती थी

पहले केवल विचारों के लड़ाई थी, निजी तौर पर प्यार मौहब्बत बनी रहती थी| जब कि अब ऐसा बहुत कम होता जा रहा है| फोटो में .. श्री विश्वनाथ प्रताप सिंह जी अपने हाथ से प्लेट उठाकर मुलायम सिंह जी और कांशीराम जी को मिठाई खिलाते हुए .. साथ में राज बब्बर जी भी बैठें हैं |

~ मनमोहन शर्मा ~

कुछ नयी पुरानी खट्टी-मीठी यादें, अखिलेश यादव की पुरानी फोटो

 

Leave a Comment