कमलनाथ की कैबिनेट पढ़े कौन कौन बना मंत्री

कमलनाथ की कैबिनेट पढ़े कौन कौन बना मंत्री

कमलनाथ की कैबिनेट पढ़े कौन कौन बना मंत्री-राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल शपथ ग्रहण के अगले ही दिन मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी अपनी सेना की धोषित की है।

आज मध्यप्रदेश राजभवन में शपथ ग्रहण सम्पन्न हुआ,

मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने विधायकों को मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) नव गठित मं​त्रिमंडल की प्रथम अनौपचारिक बैठक लेंगे।

आपको बता दें कि कमलनाथ कैबिनेट (kamalnath cabinet) के नाम तय करने में विषेश् दिक्कत सामना करना पड़ा था।

दिल्ली में कई दिनों के मंथन करने के उपरांत सोमवार आधी रात को मंत्रिमंडल के नामों की औपचारिक घोषणा की गई।

कमलनाथ की कैबिनेट में 28 विधायक मंत्री बनेगे।

सभी को कैबिनेट का दर्जा प्राप्त होगा।
चौथी बार विधायक बने एन पी प्रजाप​ति को विधानसभा अध्यक्ष बनाया गया है।

नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव विधानसभा क्षेत्र से चार बार जीत चुके एनपी प्रजा​पति संसदीय मामलों के अच्छे जानकार हैं।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में ज्योतिरादित्य भी थे, लेकिन युवा चेहरे की बजाय अनुभव को प्राथमिकता मिली और बाजी कमलनाथ ने मारी।

अब मंत्रिमंडल के गठन में भी कमलना​थ की ही चली है।

अपने गुट के विधायकों को मंत्री बनवाने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी दिल्ली में डेरा डाल रखा था,

लेकिन कमलनाथ ने अपनी पसंद की टीम चुनी है। कमलनाथ की पसंद में दिग्विजय सिंह की भी सहमति थी।

मध्यप्रदेश के मंत्री (kamlmalnath cabinet)

1 सज्जन सिंह वर्मा
2 बाला बच्चन 
3 डॉ. गोविंद सिंह
4 आरिफ अकील 
5 तुलसी सिलावट
6 गोविंद सिंह राजपूत
7 ओमकार मरकाम
8 सुखदेव पांसे
9 प्रभुराम चौधरी
10 जयवद्र्धन सिंह
11 हर्ष यादव
12 विजयलक्ष्मी साधौ 
13 हुकुम सिंह कराड़ा 
14 तरूण भनोट
15 प्रियव्रत सिंह 
16 कमलेश्वर पटेल
17 सचिन यादव
18 पीसी शर्मा
19 सुरेंद्र सिंह बघेल
20 लखन घनघोरिया
21 बृजेन्द्र सिंह राठौर
22 लाखन सिंह यादव
23 जीतू पटवारी
24 उमंग सिंघार
25 प्रद्युम्न सिंह
26 प्रदीप जायसवाल
27 महेंद्र सिसोदिया
28 इमरती देवी

कहा और किस जाति के मंत्री बने देखे

मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के नव गठित मंत्रिमंडल में ​7 विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया और

21 विधायक कमलनाथ व दिग्विजय सिंह के गुट के हैं.

इसके अलावा क्षेत्रवार बात करें तो सबसे अधिक 5 मंंत्री मालवा और निमाड़ क्षेत्र से बनाए गए हैं.

इसके अलावा ग्वालियर और चंबल क्षेत्र से 5, बुंदेलखंड से 3, महाकौशल से 4, मध्य क्षेत्र से 6, विंध्य क्षेत्र से

एक विधायक को मंत्री बनने का अवसर मिला है.

इनके अलावा कमलनाथ मंत्रिमंडल में सोशल इंजीनियरिंग का भी पूरा ध्यान रखा गया है.

जाति के हिसाब से बात करें तो 8 ठाकुर, 5 एससी, 4 एसटी, 2 ब्राह्मण, 5 ओबीसी, 3 यादव जाति के विधायक मंत्री बने हैं.

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment