जवाहर लाल नेहरु महाविद्यालय बाराबंकी में परीक्षा में बवाल छात्रो ने की तोड़ फोड़

जवाहर लाल नेहरु महाविद्यालय बाराबंकी में परीक्षा में बवाल छात्रो ने की तोड़ फोड़

जवाहर लाल नेहरु महाविद्यालय बाराबंकी में परीक्षा में बवाल छात्रो ने की तोड़ फोड़-आज एल एल बी के विभिन्न सेमेस्टर की परीक्षा होनी थी।

लेकिन जवाहर लाल नेहरु महाविद्यालय बाराबंकी में उस बवाल शुरू हो गया।

जब एल एल बी के विभिन्न सेमेस्टर की परीक्षा देने पहुँचे।

तो परीक्षार्थीयो को परीक्षा शुरू होने के ठीक पहले करीब 2 बजे महाविद्यालय ही प्रवेश दिया गया।

उसके बाद परीक्षार्थीयो को पेपर देने के लिए टेंट में बिठा दिया गया।

यही नही परीक्षार्थीयो के सिर से पानी ऊपर जब चला गया।

जब परीक्षार्थीयो को पेपर भी 3 बजे तक नही मिला।

जिससे नाराज परीक्षार्थीयो ने बवाल शुरू कर दिया।

जिसमे परीक्षार्थीयो कुर्सियां मेजे सब तोड़ फोड़ शरू कर दी।

जवाहर लाल नेहरु महाविद्यालय के प्रशासन ने कहा कि फैजाबाद विश्वविद्यालय ने हमको जबरन परीक्षा केंद्र दे दिया।

जबकि हमारा महाविद्यालय 1000 से अधिक छात्रो को परीक्षा नही दिला सकते है।

उसके बावजूद हमे 3000 छात्रो का परीक्षा केंद्र बना दिया गया।

यह अव्यवस्था इसीलिए हुई हमारे पास कर्मचारियों और व्यवस्था की कमी भी बड़ा कारण है।

अपराधियों का जेल से फसेबूक अपडेट

योगी सरकार में मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद से जेल की सुरक्षा पर सवाल उठ रहे है।

यह सवाल लागतार उठ रहा है कि कैसे जेल में घटना सम्भव हुई।

कुछ दिन पहले अतीक अंसारी पर एक व्यापारी को जेल में अगवा करके जेल में मारपीट करने और फिरोती माँगने का आरोप लगा था।

आज एक नया मामला सामने जिसमे एक अपराधी द्वारा फेसबुक पर बस कुछ दिन और जेल में पोस्ट किया।

akhilesh yadav cm लोकप्रियता सबसे अधिक

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की लोकप्रियता बड़ी है।

पी एस सी (PSE) के मुताबिक सितंबर माह में अखिलेश यादव (akhilesh yadav) की लोकप्रियता 29% पर रुकी थी।

वह लोकप्रियता विगत 3 माह में 8% से बढ़कर दिसंबर में 37% पर पहुँच गयी है।

अखिलेश यादव (akhilesh yadav) लोकप्रियता में बढ़त के बाद उन्होंने योगी को पीछे कर दिया है।

वही bsp प्रमुख मायावती की लोकप्रियता में सितंबर से दिसंबर के बीच 3% की गिरावट आई है।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की लोकप्रियता सितंबर में 18% थी जो दिसंबर में घट कर 15% रह गई है।

india today group के लिए Axis my India की ओर से पॉलिटिकल स्टॉक एक्सचेंज (PSE) के डेटा के मुताबिक

मुख्यमंत्री योगी की लोकप्रियता कम हुई

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता में बीते तीन महीने में खासी गिरावट आई है।

करीब दो साल से सत्ता में मौजूद योगी जी की लोकप्रियता की तुलना शिवराज सिंह चौहान जी और

रमन सिंह जी के बतौर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री तीसरे कार्यकाल के आखिरी दिनों से की जाए तो ये 6% कम दिखी।

India today के लिए Axis की ओर से सितंबर में किए गए।

पहले tracking पोल में योगी आदित्यनाथ जी की लोकप्रियता 35% थी।

bjp समर्थकों के लिए निराशाजनक बात ये है Mकि axis की ओर से कराए गए

ताजा सर्वे में योगी की लोकप्रियता बीते 3 महीने में 5% नीचे आ चुकी है।

दिसंबर के तीसरे हफ्ते में किए गए पी एस ई (PSE ) सर्वे में सिर्फ 35% प्रतिभागियों ने ही कहा कि

अगले सीएम के लिए योगी आदित्यनाथ उनकी पहली पसंद हैं।

Sending
User Review
5 (1 vote)

Leave a Comment