गोरखपुर यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी परिषद और छात्र सभा के विवाद में छात्रनेत्री अन्नू समेत 4 निलंबन

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी परिषद और छात्र सभा के विवाद में छात्रनेत्री अन्नू समेत 4 निलंबन

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी परिषद और छात्र सभा के विवाद में छात्रनेत्री अन्नू समेत 4 निलंबन-गोरखपुर विश्वविद्यालय में बगैर किसी अनुमति के विश्वविद्यालय कैंपस में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यक्रम को लेकर समाजवादी छात्रसभा की छात्रनेता अन्नू प्रसाद के आपत्ति जताने पर जमकर हंगामा हुआ है।

विद्यार्थि परिषद और समाजवादी छात्रसभा की छात्रनेत्री अन्नू पासवान में जमकर बहस हुई। मौके पर मौजूद विश्वविद्यालय के प्रोफेसरो ने मूकदर्शक बनी रहे।

बिना अनुमति के चल रहे एबीवीपी के कार्यक्रम में भगवा गमछा पहने प्रोफेसर मौजूद थे

समाजवादी छात्रसभा की छात्रनेत्री अन्नू ने कहा है कि बिना अनुमति के विश्वविद्यालय परिसर में परिषद के कार्यकर्ता कार्यक्रम कर रहे थे। विश्वविद्यालय परिसर में झंडा बैनर लगा रखा था।

मुझे जाता देख अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेता हुटिंग करने लगे।

जिस कारण वह बात करने कार्यक्रम स्थल पर गईं।

जहां विश्वविद्यालय के कुछ प्रोफेसर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यक्रम में एवीबीपी लिखे गमछे पहने मौजूद थे।

अन्नू ने कहा कि मेरे पूछे जाने पर परिषद के नेताओ ने अभद्रतापूर्ण तरीके धमकाते हुये। वहाँ से चले जाने को कहा था।

विश्वविद्यालय के मुख्य प्रॉक्टर प्रोफ़ेसर गोपाल प्रसाद को दिये जाने के बाद मौके पर पहुंचे प्रॉक्टर बोर्ड के सदस्यों ने मामला शांत कराया।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेता बिन अनुमति ही परिसर में झंडा बैनर लगाकर अपना कार्यक्रम कर रहे थे

चीफ प्राक्टर गोपाल प्रसाद का कहना है कि दरअसल अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेता बिन अनुमति ही परिसर में झंडा बैनर लगाकर अपना कार्यक्रम कर रहे थे।

वहां से गुजर रही छात्रनेत्री अन्नू के समर्थकों से बहस हो गई थी।

पूरे प्रकरण की जांच में दोनों पक्ष के गलती सामने आई है।

अतः अनुशासनहीनता को लेकर अनु प्रसाद शोध छात्रा, शिव शंकर गौड़ छात्र एलएलबी, सौरभ गौड़ लकी छात्र एलएलबी और अनूप भारत जो की राजनीति शास्त्र विभाग का छात्र है, इन सभी को निलंबित किया गया है।

साथ ही दोनों पक्षों को विश्वविद्यालय प्रशासन ने जवाब तलब किया है।

वही बिनाअनुमति के विश्वविद्यालय परिसर में कार्यक्रम अयोजित करने के मामले पर एबीवीपी की तरफ से किसी ने अपना पक्ष रखना उचित नहीं समझा है।

Leave a Comment