बीटीसी पेपर लीक से नाराज छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया

बीटीसी पेपर लीक से नाराज छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया

बीटीसी पेपर लीक से नाराज छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया – छात्रो ने पेपर लीक के कारण रद्द की गई, परीक्षा को 15 से 18 अक्टूबर के अंदर कराने की मांग की। छात्रो ने दिनभर प्रदर्शन किया, शाम को बवाल को बढ़ता देख, प्रशासन ने जल्द परीक्षा कराने का आश्वासन दिया। जिसके बाद छात्रो ने प्रदर्शन खत्म किया। छात्रो ने कहा कि हमारी माँगे नही पूरी तो हम जल्द उग्र प्रदर्शन को बाध्य होंगे।

बीटीसी पेपर लीक से नाराज छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया

अखिलेश यादव और डिम्पल यादव पहुंचे शीरोज कैफे

लीक हुआ साजिशन

बीटीसी छात्र संघर्ष मोर्चा के छात्रनेता राजन वर्मा ने कहा की पेपर लीक साजिशन हुआ है। जिससे बीटीसी छात्र-छात्राए शिक्षक भर्ती से बाहर हो जाए, बीटीसी छात्र संघर्ष मोर्चा ने पेपर लीक की उच्चस्तरीय जांच कराने के साथ बीटीसी चतुर्थ समेस्टर की परीक्षा 15 से 20 अक्टूबर के बीच कराए जाने की मांग की है। साथ ही शिक्षक पात्रता परीक्षा की तारीख एक माह आगे बढ़ाया जाने की मांग की है। इन सभी मांगों को लेकर मोर्चे ने जिला प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल और मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया है।

सोशल मीडिया पर पेपर लीक हुआ वायरल

आपको बता दे कि 8 से 10 अक्टूबर तक बीटीसी चौथे समेस्टर की परीक्षा होनी थी।

किन्तु  बीटीसी 2015 बैच चौथे समेस्टर परीक्षा का पेपर, एक दिन पहले ही सोशल मीडिया वायरल होने कारण,

परीक्षा नियामक अधिकारी ने परीक्षा रद्द कर दी।

बीटीसी पेपर लीक से नाराज छात्रो ने विरोध प्रदर्शन किया।

परीक्षा नियामक अधिकारी द्वारा जारी आदेश पत्र में लिखा, “सोशल मीडिया पर वायरल प्रथम प्रश्न पत्र का मिलान करने पर पाया गया है कि दोनों पेपर एक समान हैं। इसके अलावा कई अन्य पेपरो की वॉट्सऐप पर लीक होने की खबर है। इस बात संज्ञान लेते हुए 8 अक्टूबर से 10 अक्टूबर के बीच होने वाली बीटीसी-2015 के चौथे सेमेस्टर की सभी परीक्षाएं निरस्त की जाती हैं।”

जिस प्रकार लगतार पेपर लीक के मामले सामने आ रहे है। बीटीसी पेपर लीक से नाराज छात्रो ने विरोध प्रदर्शन किया वह बेहद गम्भीर विषय है, यदि पेपर लीक इसी प्रकार होते रहे तो छात्रो का सरकारी तंत्र से जनता का विश्वास उठ जाएगा।

Leave a Comment