BSF जवान ने कायम की ईमानदारी की मिसाल, पकड़ा 200 करोड़ का ड्रग्स,1 करोड़ रिश्वत का लालच देने पर भी नही छोड़ा

BSF जवान ने कायम की ईमानदारी की मिसाल, पकड़ा 200 करोड़ का ड्रग्स,1 करोड़ रिश्वत का लालच देने पर भी नही छोड़ा

BSF जवान ने कायम की ईमानदारी की मिसाल, पकड़ा 200 करोड़ का ड्रग्स,1 करोड़ रिश्वत का लालच देने पर भी नही छोड़ा-भारत देश कि सीमा पर आए दिन नशे का कारोबार करने वाले पकड़े जाते हैं

पाकिस्तान को छूने वाली पंजाब की सीमा जम्मू कश्मीर राजस्थान की सीमा हो।

दरअसल POLICE और BSF ने J&K में एक बार फिर सरहद पार से आ रहे नशे के जखीरे को पकड़ा है।

कार्रवाई में ट्रक से भेजी जा रही 200 करोड़ की हेरोइन और ब्राउन शुगर जब्त की गई है

ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

सूत्रों ने बताया कि ट्रक ड्राइवर ने BSF जवान को 1 करोड़ की रिश्वत देने की बात कही थी

लेकिन BSF जवान ने उसे लेने से मना कर दिया।

पैसे से बड़ा देश है

बी एस एफ जवान ने बाद में मीडिया से कहा कि उसे 1

करोड़ रुपए ऑफर किए थे लेकिन पैसे से बड़ा देश है।

एक करोड़ लेकर वो करोड़ों युवाओं की जिंदगी और देश का भविष्य खतरे में नहीं डाल सकता।

बता दें पुलिस और सुरक्षाबलों की ओर से सीमा पार से आने वाले

नशीले पदार्थों की तस्करी को रोकने के लिए समय-समय पर अभियान चलाया जाता है।

शुक्रवार को बारामूला पुलिस और सुरक्षा बलों ने संयुक्त कार्रवाई के तहत भारत आ रहे.

एक ट्रक से 25 किलो नारकोटिक्स ड्रग्स जब्त किया है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करीब पांच करोड़ रुपये

यह ड्रग्स क्रॉस बॉर्डर ट्रेड के उद्देश्य से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) से भारत भेजी जा रही थी।

पुलिस ने आरोपी ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। बताते चलें कि बीते दिनों भी पंजाब में पाकिस्तान से आई हेरोइन की खेप को बरामद किया गया था।

पुलिस ने दो तस्करों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक किलो हेरोइन बरामद की थी।

बरामद हेरोइन की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करीब पांच करोड़ रुपये आंकी जा रही थी।

ड्रग्स सप्लाई के लिए सिंचाई साधनों का इस्तेमाल

गौरतलब है कि सीमा पार से नशे के सौदागर नशे की तस्करी के लिए नए-नए तरीके खोजते रहते हैं।

हाल ही में खबर आई थी कि पाकिस्तानी तस्कर नशे की खेप भारत पहुंचाने के लिए सिंचाई साधनों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

साथ ही वह ड्रग्स के बड़े पैकेट के बजाय छोटे पैकेट भारत भेज रहे हैं, जिन्हें पकड़ना थोड़ा मुश्किल होता है।

Leave a Comment