AZAMGARH में AKHILESH YADAV के नामांकन के बाद, विशेषज्ञों ने कहा बड़ी जीत होगी

AZAMGARH में AKHILESH YADAV के नामांकन के बाद, विशेषज्ञों ने कहा बड़ी जीत होगी

AZAMGARH में AKHILESH YADAV के नामांकन के बाद, विशेषज्ञों ने कहा बड़ी जीत होगी

AZAMGARH में AKHILESH YADAV के नामांकन के बाद, विशेषज्ञों ने कहा बड़ी जीत होगी-आज AZAMGARH में AKHILESH YADAV को सुनने के लिए जिस तरह जनसैलाब उमड़ा वह उनकी जीत सुनिश्चित कर रहा था।

राजनीतिक विश्लेषक राम प्रताप सिंह ने बताया कि AKHILESH YADAV की जीत अब सुनिश्चित दिख रही है।

मैं यह बात ऐसे ही नही कह रहा हूँ। उत्तर प्रदेश की राजनीति में जातीय समीकरण का बड़ा खेल हमेशा से माना जाता रहा है।

जिन जातियों आकड़ो के सहारे भाजपा उत्तर प्रदेश में आई।

SP-BSP-RLD Alliance उन्ही जातियों को एक साथ ले रहा है।

आकड़ो पर गौर करे OBC यानी पिछड़ों का प्रतिशत 40 पार करता हुआ दिखाई दे रहा है।

अनुसूचित जाति और जन जाति की आबादी प्रदेश में 21% के आसपास बताई जाती है।

मुस्लिम मत प्रतिशत करीब 19.5%के आसपास होता है।

SP-BSP-RLD Alliance ने सभी जातियों के लोगो को विशेष रूप से पिछड़ो और दलितों को साधा जो AKHILESH YADAV की जीत सुनिश्चित कर रहा है।

AKHILESH YADAV ने किया नामांकन

AKHILESH YADAV के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सदर लोकसभा सीट से गठबंधन के प्रत्याशी AKHILESH YADAV गुरुवार को 11.35 बजे वाराणसी एयरपोर्ट पर पहुंचे।

इसके बाद हेलीकॉप्टर से AKHILESH YADAV AZAMGARH की पुलिस लाइन 12.08 बजे पहुंचे।

जनसभा को संबोधित करते हुए AKHILESH YADAV ने कहा कि नेता जी हमेशा कहते है

कि अगर इटावा मेरा घर है तो AZAMGARH दूसरा घर है।

भाजपा पर निशाना साधते हुए AKHILESH YADAV ने कहा कि सपा बसपा और रालोद का गठबंधन महा मिलावट नहीं,

बल्कि महापरिवर्तन का गठबंधन है। हमारे गठबंधन में तो बस तीन दल शामिल हैं।

लेकिन भाजपा जवाब दें कि 38 दलों के साथ गठबंधन को क्या कहेगी भाजपा?

भाजपा का गठबंधन महामिलावट है। भाजपा ने रोजगार में चोरी की है। देश की जनता को बहकाया है।

AKHILESH YADAV ने कहा कि  यूरिया कि हर बोरी से 5 किलो खाद की चोरी हुई है।

नोटबंदी करने से भ्रष्टाचार भी नहीं खत्म हुआ।

वो चाय वाले तो हम भी दूधवाले: AKHILESH YADAV

AKHILESH YADAV ने कहा कि 36 हजार से ज्यादा उद्योगपति देश की जनता के पैसे लेकर विदेश भाग गए।

चाय पर चर्चा का जिक्र करते हुए कहा कि अगर वो चाय वाले तो हम भी दूधवाले हैं।

चायवाले की चाय खराब निकल गई। जब हमारा दूध ही अच्छा नहीं होगा तो उनकी चाय कैसे अच्छी बनेगी।

लगता है वह दूध नहीं बल्कि काली चाय बनाते हैं। इसलिए उनका सारा कारनामा ही काला है।

AKHILESH YADAV ने कहा कि यह चुनाव आम चुनाव नहीं है।

यह चुनाव देश का भविष्य बदलने का चुनाव है। उत्तर प्रदेश में हमारे मुख्यमंत्री ठोकीदार भी है।

जो हमेशा सबको ठोकते रहते हैं। सीएम के तर्ज पर ही भाजपा के सांसद ने विधायक को 12 जूतों की सलामी भी दी।

जनता ‘CHOWIDAR’ और ठोकीदार की चौकी जरूर छीनेगी।

AZAMGARH LOKSABHA का इतिहास

1996 में हुए लोकसभा चुनाव में Ramakant yadav ने पहली बार AZAMGARH में समाजवादी पार्टी के टिकट पर जीत हासिल की थी।

इसके बाद 1998 में हुए चुनाव में वे हार गए और बसपा के AKHBAR AHMAD DUMPY यहां से सांसद बने।

1999 में हुए लोकसभा चुनाव में दोबारा Ramakant yadav ने AZAMGARH से सपा को जीत दिलाई।

सांसद रहते हुए ही Ramakant yadav ने सपा छोड़ दी और बसपा में शामिल हो गए।

2004 लोकसभा चुनाव में रमाकांत यादव बसपा से चुनाव लड़े और फिर AZAMGARH से सांसद बने।

2008 में हुए उपचुनाव में बसपा के AKHBAR AHMAD DUMPY ने जीत दर्ज की।

इसके बाद Ramakant yadav बसपा छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए और उसके बाद के चुनावों में वे बीजेपी के टिकट पर AZAMGARH से लड़ते रहे।

2009 के आम चुनाव में उन्होंने जीत भी दर्ज की, लेकिन 2014 में मुलायम सिंह यादव जब खुद AZAMGARH से मैदान में उतरे तो Ramakant yadav को हार का मुंह देखना पड़ा।

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment