अखिलेश की चौपाल की मुख्य बाते सुने

अखिलेश की चौपाल की मुख्य बाते सुने

अखिलेश की चौपाल की मुख्य बाते सुने-आज समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का कन्नौज जिले के फकीरे पुरवा गांव में अखिलेश की चैपाल नाम से कार्यक्रम की शुरुआत की.

यह वही गांव जिसका समाजवादी सरकार में पूर्व राष्ट्रपति

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम और समाजवादी सरकार के

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 250 किलोवाट सोलर प्लांट का उद्घाटन किया था.

इस कार्यक्रम का आयोजन twitter global public policy के प्रमुख काॅलिन क्रोवेल की उपस्थिति में हुआ.

क्रोवेल इंटरनेट पालिसी के विशेषज्ञ हैं और वाशिंगटन में रहते हैं.

अखिलेश यादव ने कहा कि किसान मंहगाई से त्रस्त है. खेती का लागत मूल्य लगातार बढ़ रहा है.

मुफ्त पानी, सस्ती खाद देकर ऐसी नीतियां बने ताकि किसान को उपज का अच्छा मूल्य मिले.

आज किसान बड़े पैमाने पर सरसों पैदा कर रहा है पर सरकार विदेशों से तेल मंगवा रही है,

ऐसे में किसानों को सरसों का उचित मूल्य कहां मिल पाएगा.

दुग्ध उत्पादन में जब हमें मौका मिलेगा तो उन्हें तुरन्त कीमत दी जाएगी.

कन्नौज, इटावा, फर्रूखाबाद समेत आसपास का आलू किसान परेशान है.

अगर किसानों ने सोच समझकर सरकार नहीं चुनी तो पांच साल तक पछताना पड़ेगा.

भाजपा ने भी तो कई दलों से गठबंधन कर रखा

लोकसभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने भी तो कई दलों से गठबंधन कर रखा है.

हालांकि कई दल अब उसका साथ छोड़ रहे है.

कन्नौज की सांसद डिम्पल यादव ने अपने लोकसभा क्षेत्र के लोगों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए

कहा कि कन्नौज के लोगों के सुख-दुःख में हमेशा शामिल रहूंगी.

कन्नौज के लोगों की समस्याएं दूर करने की दिषा में सकारात्मक प्रयास हमेशा होता रहेगा.

पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि

समाजवादी सरकार ने पूरे प्रदेश में विकास जहां-जहां पहुंचाया भाजपा ने उसे रोक दिया.

भाजपा का चरित्र विकास विरोधी है. विकास के लिए सत्ता मिलती है और सत्ता के जरिए ही विकास होता है.

लेकिन भाजपा का व्यवहार इसके उलट है. भाजपा का राजनैतिक आचरण जनविरोधी है.

अखिलेश यादव ने कहा कि बेरोजगारी दूर करने के लिए समाजवादी पार्टी ने कई कार्य किये थे.

समाजवादी पार्टी ने छात्रों को लैपटाॅप दिया.

जिनके पास साधन नही थे उन्हें समाजवादी सरकार में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गये.

भाजपा ने लोगों को गुमराह किया है. भाजपा समाज को दिग्भ्रमित कर रही है.

अखिलेश यादव ने कहा कि लोकतंत्र में सरकारों को मर्यादित आचरण करना चाहिए.

भाजपा राजनैतिक शिष्टाचार के विपरीत कार्य करती है.

समाजवादियों ने हमेषा भाषा पर संयम रखा है.गठबंधन से भाजपा डरी हुयी है.

उसने भाषा के स्तर को बहुत नीचे गिरा दिया है.

भारत का स्थान दुनिया में कहां है इसकी भाजपा को चिंता ही नहीं है.

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर प्रदेश सरकार ने कोई काम नहीं किया.

भाजपा का किसानों से कोई सम्बंध नहीं है. गांव का स्वाद भाजपा ने चखा ही नहीं है.

किसानों को उत्पाद का फायदा कैसे मिले इस दिशा में सरकार की कोई नीति नहीं है.

हमने आगरा-लखनऊ एक्स प्रेस-वे इसलिए बनवाया था कि उसके किनारे मंडियां होंगी.

जिससे अनाज, फल, दूध के किसानों को बिक्री से लाभ मिलेगा. भाजपा ने इसे रोक दिया.

छुट्टा पशुओं को नियंत्रित करने का कार्य करना चाहिए

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की प्रदेश सरकार को छुट्टा पशुओं को नियंत्रित करने का कार्य करना चाहिए.

समाजवादी पार्टी का काम बोलता है जबकि भाजपा का धोखा बोलता है.

समाजवादी सरकार समाज और जनता के प्रति संवेदनशील थी.

भारत की एक-दो पीढ़ी बिना रोजगार के निकल जा रही है. सरकार को इसकी कोई चिंता नहीं है.

भाजपा सरकार में असीमित भ्रष्टाचार और मंहगाई बढ़ गयी है

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार आने पर समाजवादी पेंशन दो हजार रूपये की जायेगी.

रोजगार के सवाल पर भाजपा की चुप्पी और सत्ता के दुरूपयोग करने की कीमत लोकसभा चुनाव में भाजपा को चुकानी पड़ेगी.

भाजपा के नेता आर.एस.एस. और संविधान की दो तरह की शपथ लेते हैं.

भाजपा का काम जनता में कन्फ्यूजन पैदा करना हैं. भाजपा की नीयत साफ नहीं है.

स्वच्छ भारत एक धोखा है. शौचालय में पानी नहीं है.

उद्घाटन का उद्घाटन और शिलान्यास का शिलान्यास भाजपा का चरित्र है.

लोकसभा चुनाव से पहले सीबीआई की सक्रियता पर अखिलेश यादव ने कहा कि उसका हमें डर नहीं है.

पहले भी हम इस जांच से गुजर चुके हैं.

अब सीबीआई एक बार में जो पूछना चाहती है पूछ ले और हमें चुनाव में लगने दे.

उन्होंने कहा कि प्रदेष में बड़े पैमाने पर अवैध खनन हो रहा है.

आवारा जानवरों और सांडो से किसानों की खेती को हो रहे नुकसान पर भाजपा को चिंता नहीं.

अब शराब के टैक्स से गौमाता की सेवा होगी.

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment