डी एल एड संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा ने किया पंकज सिंह का धेराव

डी एल एड संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा ने किया पंकज सिंह का धेराव

डी एल एड संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा ने किया पंकज सिंह का धेराव-डी एल एड (deld) संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा नामक संघटन ने प्रतापगढ़ में एक जनसभा को सम्बोधित करने आए।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सुपुत्र स्टार प्रचारक/भाजपा प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह के काफिले मो के प्रतापगढ़ में कई जगह पर रोका।

deld संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा 69000 प्राथमिक शिक्षक/सहायक शिक्षक भर्ती में बीएड (Bed) को शामिल करने का विरोध कर रहे थे।

पंकज सिंह का विरोध करते हुए deld संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा के छात्र नेताओ ने पंकज सिंह की जनसभा में पहुँचे।

वहाँ पर भी पंकज सिंह को जनसभा सम्बोधित करने व्यवधान पैदा किया।

पंकज सिंह जनसभा के बाद मजबूरन डी एल एड (deld) संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा के

छात्र नेताओं से मिले और उनकी बात मुख्यमंत्री से रखने का विश्वास दिलाया।

जिसके बाद ही (deld) संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा के छात्र नेता वहाँ से हटे।

69000 प्राथमिक शिक्षक/सहायक शिक्षक भर्ती क्या है पूरा मामला

69000 प्राथमिक शिक्षक/सहायक शिक्षक भर्ती में बीएड (Bed) को शामिल करने का विरोध हो रहा है।

deld के अभ्यर्थि लगातार इस बात का विरोध कर रहे है।

(deld) अभ्यर्थियों का कहना है कि जब इस मामले में कोर्ट का आदेश है

कि जब डी एल एड (deld) के छात्रों की संख्या कम हो तभी बीएड (Bed) को प्राथमिक शिक्षक/सहायक शिक्षक भर्ती में शामिल करना चाहिए।

संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा ने किया आह्वाहन

लेकिन वर्तमान सरकार अपने राजनीतिक लाभ के लिए Bed) को प्राथमिक शिक्षक/सहायक शिक्षक भर्ती में शामिल कर रही है।

डी एल एड संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा ने आहवान किया है कि

69000 कटऑफ केस ऑर्डर का ऑपरेटिव पार्ट परसो यानी 29.03.2019 को लखनऊ कोर्ट 23 में सुनाया जाएगा।

पक्ष में आता है तो भी अधिकारियों से मिलकर प्रक्रिया प्रारंभ करवाने के लिए आपको घरों से निकलना होगा

और डीबी में बचाना होगा क्योंकि कटऑफ विरोधी इसे ऊपर कोर्ट में अवश्य लेकर जाएंगे। बिना सीनियर के कुछ नहीं होगा।

विपक्ष में आता है तो प्रक्रिया को आगे बढ़ने से रूकवाना होगा और डीबी में अपील फ़ाइल करनी होगी।

इसलिए एक्टिव मोड में आ जाएं।

बाकी आर्डर में क्या रहेगा यह कोई नहीं बता सकता

राजेश चौहान जी का रूख अधिकारियों की मनमानी के विरुद्ध रहा है

वहीं दूसरी ओर लीगल टीम ने भी यूनिवर्स में उपलब्ध बचाने के लिए जो आर्डर थे सब लगाए हैं। आपको क्या लगता है?

Sending
User Review
0 (0 votes)

Leave a Comment